Current Date:08 Dec 2022





इस राज्य में हुई 2 मुस्लिम परिवारों की घर वापसी...हवन-पूजन कर बने हिंदू...पढ़िए पूरी खबर

दो मुस्लिम परिवारों के 8 सदस्यों की हिंदू धर्म में वापसी कराई गई.

इस राज्य में हुई 2 मुस्लिम परिवारों की घर वापसी...हवन-पूजन कर बने हिंदू...पढ़िए पूरी खबर


मुजफ्फरनगर: उत्तर प्रदेश के जिले मुजफ्फरनगर में मंगलवार को फिर दो मुस्लिम परिवारों के 8 सदस्यों की हिंदू धर्म में वापसी कराई गई. इसमें बघरा स्थित स्वामी यशवीर आश्रम परिषद के महंत स्वामी यशवीर महाराज और स्वामी मृगेंद्र महाराज ने हवन-पूजन और विधि-विधान के साथ इन लोगों को गंगाजल के आचमन से शुद्धिकरण और मंत्रोच्चारण कर हिंदू धर्म ग्रहण कराया. हिंदू धर्म में वापसी करने वाले इन सभी लोगों ने बताया कि अब वे काफी खुश हैं.
इन कारणों से गरीब हिंदू अपना रहे थे मुस्लिम धर्म
वहीं, यूपी में योगी सरकार के अस्तित्व में आने के बाद जब स्वामी यशवीर महाराज को पता चला कि किसी दबाव या फिर लालच के कारण गरीब हिंदू परिवार मुस्लिम धर्म ग्रहण कर रहे हैं, तभी से यशवीर महाराज ने ठान लिया कि वह किसी ना किसी तरह इन परिवारों की मूल धर्म में वापसी कराएंगे. इसके बाद स्वामी यशवीर महाराज ने 3 परिवारों से संपर्क करना शुरू किया. इस तरह सैकड़ों ऐसे लोगों को हिंदू धर्म में वापसी कराई, जिनके या तो पूर्वज या माता-पिता किसी कारण से हिंदू से मुस्लिम धर्म अपना चुके थे. 
मेरठ जिले के रहने वाले हैं मुस्लिम परिवार
ऐसे ही मेरठ जिले के रहने वाले दो मुस्लिम परिवारों से स्वामी यशवीर महाराज का संपर्क हुआ, जिसके चलते स्वामी अश्विन महाराज ने इन परिवारों को जनपद मुजफ्फरनगर के थाना तितावी क्षेत्र के बघरा स्थित अपने आश्रम में बुलवा कर विधि-विधान के साथ हवन पूजन किया. इन परिवारों का गंगाजल से आजमन करा कर मंत्र उच्चारण के साथ हिंदू धर्म में वापसी कराई. हवन-पूजन के बाद हिंदू धर्म में वापसी करने वाले परिवारों के सदस्यों ने खुशी जाहिर की. 
धर्म परिवर्तन नहीं घर वापसी कराई -स्वामी यशवीर महाराज
स्वामी यशवीर महाराज (महंत यशवीर आश्रम परिषद) ने कहा कि हमने लोगों का धर्म परिवर्तन नहीं किया, बल्कि उनकी घर वापसी की है. ये लोग मेरठ से हैं, जो 2 परिवारों के कुल 8 सदस्य हैं. सन 1947 से लेकर के भाजपा की सरकार आने से पहले जो भी सरकार आई उन सरकारों में हिंदुओं का धर्मांतरण किया और बड़े ही शातिर ढंग से किया गया.
महंत ने कहा कि गरीब हिंदुओं के बीच मुसलमानों के मौलवी पहुंचते थे और उनको धन का लालच देते हैं थे और कहते थे कि तुम मुसलमान बन जाओ. जब वो इसके लिए तैयार नहीं होते थे, तो उनको डराते और धमकाते थे. कहते थे कि हम तुम्हारा कत्ल कर देंगे या तुम्हें झूठे मुकदमों में फंसा देंगे. 
भाजपा की सरकार आने से लोगों में स्वाभिमान जागा-स्वामी यशवीर महाराज
स्वामी यशवीर महाराज ने कहा कि जब ऐसा डर गरीब हिंदुओं को दिखाया जाता था, तो बेचारे डर जाते थे और हिंदू धर्म छोड़कर मुसलमान बन जाते थे. फिर जब भाजपा की सरकार केंद्र और कुछ प्रदेशों में आई, तो जो हिंदू लोग मुसलमान बन गए थे उनका स्वाभिमान जागा. उन्हें अपने घर की याद आई तो आज भारत के कोने-कोने में जो लोग हिंदू धर्म छोड़कर चले गए थे वो स्वेच्छा से वापस आ रहे हैं.
महंत ने बताया कि बेचारे गरीब लोग थे डर कर हिंदू से मुसलमान बन गए, लेकिन अब इनके अंदर स्वाभिमान जाग रहा है. अब इन्हें पता है कि हमें कोई खतरा नहीं होगा तो इन्होंने निडर होकर अपने पुराने धर्म में घर वापसी कर ली. अब तक सैकड़ों लोगों को हमने घर वापसी कराई है. 
स्वामी यशवीर महाराज को दिया धन्यवाद
हिंदू धर्म में वापसी करने वाले लोगों ने कहा कि स्वामी जी ने उनकी अपने मूल धर्म में वापसी कराई है, इसलिए वे उनका धन्यवाद करते हैं. इन 8 लोगों के धर्म परिवर्तन के बाद शाइस्ता को राधा, रशीदा को गीता, बरखा को वर्षा, अकबर को कृष, इकरा को शीतल, गुल्लू को रितिक, एहसान को सचिन और हारून को अरुण नाम दिया गया. 
पहले हमारा हिंदू धर्म ही था- सचिन
एहसान से सचिन बना युवक ने कहा कि हिंदू धर्म में वापसी करके बढ़िया लग रहा है. उसके मुस्लिम बनने का क्या कारण था इस सवाल के जबाव में युवक ने बताया कि हमारे मां-बाप की काफी समय पहले मृत्यु हो गई, इसलिए अब हमने सोचा कि हिंदू धर्म में जाना चाहिए. पहले हमारा यही धर्म था, इसलिए अपने धर्म में आ गया. पहले से यही थे, अब फिर हिंदू हो गए.
हिंदू धर्म अपना कर अच्छा लग रहा है- गीता
रशीदा से गीता बनी महिला ने कहा कि हिंदू धर्म अपनाकर अच्छा लग रहा है. पहले जब मां-बाप छोटे-छोटे थे तब मुस्लिम बन गए थे. अब मां-बाप हिंदू धर्म में आ गए, तो हमने भी अपना लिया. हिंदू धर्म अपना कर अच्छा लग रहा है.