जिला प्रशासन के लेटलतीफी की वजह से शिक्षकों का 9 माह का वेतन बकाया, शिक्षकों का काम करना हुआ मुश्किल, 500 से ज्यादा बच्चो का भविष्य अधर म

NEWS DESK BILASPUR : 19-02-20 11:46:02


रायगढ़:- गरीब और होनहार बच्चों को सिविल सर्विस सहित तमाम प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाने के लिए रायगढ़ जिला प्रशासन की तरफ से तेजस अकादमी के नाम से मुफ्त कोचिंग की व्यवस्था की गई है। जिसमे प्रतिदिन अलग अलग बैचों में 500 से ज्यादा बच्चों को सफलता पूर्वक कोचिंग कराया जा रहा है। यहाँ के शिक्षकों की कड़ी मेहनत और बच्चों के लगन से पढ़ाई के परिणाम स्वरूप इस कोचिंग संस्थान के 50 से ज्यादा बच्चो ने विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता पाई है। इन सब के बावजूद दूसरे शहरों से यहाँ आकर बच्चो के भविष्य बनाने वाले शिक्षकों का वर्तमान और भविष्य अंधकारमय नजर आ रहा है। यहाँ पढ़ाने वाले दर्जन भर से अधिक शिक्षको का पिछले 9 महीने का वेतन बकाया है। ऐसे में यहाँ के शिक्षकों को अपने महीने का खर्च वहन करना भी दूभर होते जा रहा है। पिछले कई महीनों से इन शिक्षकों को सैलरी मिलने का दिलासा दिया जा रहा है लेकिन हर बार, कोई न कोई बहाना बनाकर उनकी सैलरी रोक दी जा रही है। अगर इसी तरीके से काम मे लेट लतीफी की जाती रहेगी तो शिक्षकों का बिना वेतन के और आगे काम करना दूभर हो सकता है। ऐसी परिस्थितियों मे तेजस अकादमी में ताला लग जाने से सैकड़ो गरीब बच्चों का भविष्य अंधका। सूत्बेहतर होगा रायगढ़ जिला प्रशासन जल्द से जल्द तेजस अकादमी में काम करने वाले शिक्षकों के वेतन का प्रबंध करें ताकि गरीब बच्चों को अच्छी शिक्षा मिलती रहे और वे बेहतर कल की मजबूत नींव रख सकें।



add