पहले से तय है किम के वारिस की भूमिका, कोई अनहोनी होने पर वही करेगी देश का नेतृत्‍व

hindustan path : 22-04-20 09:00:04

नई दिल्‍ली। उत्तर कोरिया के तानाशाह की हालत को लेकर पूरी दुनिया में अटकलों का बाजार गर्म है। वहीं इस बात की मीडिया में अटकलें शुरू हो गई हैं कि किम के बाद उनका वारिस कौन होगा। हालांकि, अब तक किम की हालत को लेकर किसी भी खबर की पुष्टि नहीं हो सकी है। उनकी हालत को लेकर अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने भी कहा है कि इस बारे में वे कुछ नहीं जानते हैं।

जहां तक उनके बाद देश के प्रमुख होने की बात है तो किम के सबसे करीब उनकी बहन किम जोंग योन को ही माना जाता है। वह न सिर्फ पार्टी में दूसरे नंबर पर की बड़ी नेता है, बल्कि किम के काफी करीब भी हैं। किम ने खुद उन्‍हें ये कार्यभार सौंपा है। आपको बता दें कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप से हुई शिखर वार्ता के दौरान वे भी हर वक्‍त मौजूद रही हैं। ओलंपिक गेम्‍स के दौरान भी वही इन खेलों के रंगारंग कार्यक्रम का हिस्‍सा बनीं थीं।

दक्षिण कोरिया के राष्‍ट्रपति से हुई बैठक के दौरान भी किम के साथ योन ही थीं। ऐसे में यदि किम को कुछ होता भी है तो देश की बागडोर संभालने के तौर पर निश्चित तौर पर उनका नाम सबसे ऊपर ही है। इसके बाद किम की पत्‍नी का नाम आता है। हालांकि, राजनीतिक मसलों में उनकी दखल अब तक कम ही दिखाई दी है। इसके अलावा चीन की यात्रा के अलावा को किम के साथ कहीं किसी शिखरवार्ता के दौरान दिखाई भी नहीं दी हैं।

उनकी हालत के मद्देनजर यदि उत्तर कोरिया की समाचार एजेंसी केसीएनए की बात करें तो इसमें किम से जुड़ी खबरों में कहा गया है कि किम ने 21 अप्रैल को क्‍यूबा के राष्‍ट्रपति को उनके जन्‍मदिन पर शुभकामना संदेश भेजा है। इसके अलावा एक खबर में यहां तक बताया गया है कि पूरी दुनिया में किम ने देश का नाम ऊंचा किया है। इसमें इंटरनेशनल मीडिया में छपी कुछ खबरों का भी जिक्र किया गया है। इसमें भारतीय मीडिया का भी जिक्र है। इसके मुताबिक Ocean News Point अखबार ने लिखा है कि देश का नेतृत्‍व ऐसे अनुभवी नेता के हाथों में है जो मजबूत इच्‍छाशक्ति, दृढ़ विश्वास और साहस के साथ आगे बढ़ता है।

उत्‍तर कोरिया की समाचार एजेंसी में कुछ बदलाव जरूर दिखाई दे रहा है। पहले इस एजेंसी की वेबसाइट पर किम जोंग उन की तस्‍वीरें हुआ करती थीं जो अब दिखाई नहीं दे रही हैं। इससे इन बातों को बल मिल रहा है कि उनकी हालत गंभीर है। आपको बता दें कि किम पहले से ही अपने मोटापे की वजह से कई बीमारियों से ग्रसित हैं।

आपको बता दें कि दक्षिण कोरिया की समाचार एजेंसी यॉनहॉप भी उनसे जुड़ी खबरों को काफी संभाल कर दे रही है। यॉनहॉप एजेंसी ने सीएनएन की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा है कि किम की हालत खराब है। हालांकि दक्षिण कोरिया के राष्‍ट्रपति भवन के प्रवक्‍ता ने इन खबरों का खंडन किया है। उनके मुताबिक, उत्तर कोरिया से किम की कोई खबर न आना कोई बड़ी बात नहीं है। ये बेहद सामान्‍य बात है। उनके मुताबिक, ऐसा पहली बार नहीं हुआ है। उनके मुताबिक, किम की हालत को लेकर किसी तरह की पुष्टि करने का कोई मतलब ही नहीं है।

आपको बता दें कि सीएनएन ने एक न्‍यूज वेबसाइट का हवाला देते हुए अपने यहां खबर प्रकाशित की थी। ये वेब साइट उत्‍तर कोरिया की ही खबरों को प्रमुखता से प्रकाशित करती है। इसमें ही कहा गया था कि किम जोंग उन की सर्जरी हुई है, जिसके बाद उनकी हालत नाजुक बनी हुई है। इस खबर के मुताबिक, ये सर्जरी हयांगसान में मौजूद किम के रिजॉर्ट पर हुई है जो राजधानी प्‍योंगयांग के उत्‍त्‍र में है।

दैनिक जागरण



add