बड़ी खबर : चक्रवाती तूफान को लेकर तटीय राज्यों में अलर्ट, तेज हवाओं के साथ बारिश की संभावना

hindustan path : 16-05-20 04:59:05

नई दिल्ली- भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने आज यानी शनिवार को चक्रवाती तूफान की आशंका जताई है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक बंगाल की खाड़ी के ऊपर और दक्षिण अंडमान सागर के पास कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है, इससे ओडिशा और आस-पास के इलाकों में 16 मई की शाम को चक्रवाती तूफान अम्फान  की संभावना है.

मौसम विभाग ने कहा कि अगर ये चक्रवाती तूफान के तौर पर विकसित हुआ तो ये 17 मई तक उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ेगा और फिर उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है. इस समय हवा की रफ्तार 55-65 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है, जो बढ़कर 75 किलोमीटर प्रतिघंटा तक पहुंच सकती है.

मौसम विभाग ने ओडिशा के तटीय जिलों को अलर्ट जारी किया है. साथ ही पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा, मिजोरम, मणिपुर में भी ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. तटीय राज्यों में तूफान की वजह से बारिश होने की संभावना है. मौसम विभाग ने मछुआरों को समंदर किनारे ना जाने की सलाह दी है. साथ ही अंडमान-निकोबार, आइलैंड समेत कई जगहों पर भारी बारिश की भी संभावना जताई गई है.

केरल में देर से पहुंचेगा मॉनसून


भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा कि केरल में इस बार मॉनसून देर से पहुंचेगा. मौसम विभाग ने बताया कि केरल में इस साल मॉनसून पांच जून तक आ सकता है. पिछले साल अंडमान-निकोबार में मॉनसून अपनी तय तारीख से दो दिन पहले 18 मई को आ गया था लेकिन गति धीमी पड़ने से केरल में कुछ देर से पहुंचा था, जबकि पूरे देश में मॉनसून की शुरुआत 19 जुलाई को हुई थी. विभाग के मुताबिक इस साल मॉनसून सामान्य रहेगा.

समाचार एजेंसी पीटीआई की खबर के मुताबिक महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, झारखंड, बिहार और उत्तर प्रदेश के हिस्सों में मॉनसून आने में मौजूदा सामान्य तारीखों की तुलना में तीन से सात दिन की देरी हो सकती है. हालांकि उत्तर पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में मॉनसून 8 जुलाई को पहुंचने की उम्मीद है.




add