Current Date:13 Jun 2021


पटना क्षेत्र के जंगलों में संचालित अवैध कोयला खदान से 277 बोरी कोयला जप्त किया गया

राजस्व विभाग वन विभाग खनिज विभाग व पुलिस विभाग की संयुक्त टीम के द्वारा ग्राम पुटा के जंगल में पहुंचकर बोरियों में भरे अवैध कोयले लगभग 277 नग जप्त किया गया वहीं एक भी कोयला चोर को पकड़ने में टीम को सफलता नहीं मिली

पटना क्षेत्र के जंगलों में संचालित अवैध कोयला खदान से  277 बोरी कोयला जप्त किया गया

पटना (कोरिया) कोरिया जिले का पटना थाना क्षेत्र  कोलमाफ़ियाओ द्वारा कराये जाने वाले अवैध कोयला उत्खनन के लिए जाना जाता है, कटकोना पुलिस सहायता केंद्र के अंतर्गत कटकोना 5 नम्बर कोयला खदान व पहाड़ से, मुरमा,अंगा, पुटा के जंगलों में होता है कोयले का अवैध उत्खनन संबधित क्षेत्र के सरपंचों द्वारा कोयले के कारोबार को बंद करने कई बार सूचना दिया गया किंतु कोई कार्यवाही नही हुई।  

जिला मुख्यालय से लगभग 25 किलोमीटर दूर पटना थाना के कटकोना चौकी के अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत मुरमा,अंगा व पुटा के जंगलों से विगत कई वर्षों से अवैध कोयला खनन हो रहा है।  कोल माफिया के द्वारा उक्त ग्राम के वयस्कों, नाबालिगों से जान जोखिम में डालकर कोयला खनन करवाया जाता है। पैसे की लालच मे वहां के लोग अपनी जान की परवाह किए बेगैर अवैध कोयला खदान मे घुस कर कोयला खुदाई का कार्य करते है, इस कार्य मे अधिक्तर नाबालीक बच्चे रहते है। जंगल के पहाड के निचे से निकलनेंं वाले अवैध कोयले की जानकारी वन विभाग, पुलिस विभाग व एसईसीएल को भी है किन्तु कोल माफियों की तगड़ी सेटिंग के कारण  यहां से निकलनें वाले अवैध कोयले पर कार्यवाही नहीं की जाती है। अवैध कोयला निकलने के संबंध में ग्रामीण कई बार लामबंद भी हुए किंतु कोल माफियाओं का ऐसा सेटिंग रहता है कि पुलिस में वन विभाग में सूचना देने के बाद भी उक्त स्थान पर कोई नहीं पहुंचता है जिससे कोल माफियाओं के हौसले और बुलंद होते जा रहे। बीते दिनों मुरमा के सरपंच उदय सिंह के द्वारा कलेक्टर सत्यनारायण राठौर को लिखित में शिकायत भी की थी जिसके 1 माह बाद राजस्व की टीम जाकर उक्त जगह छापे मार कार्यवाही की थी कलेक्टर सत्यनारायण राठौर के आदेश अनुसार वन विभाग भी उक्त देव खोल के अवैध कोयला खदान पहुंचकर कोयले को जब किया था किंतु उस वक्त लगभग 200 बोरे कोयले जप्त हुए किंतु बैकुंठपुर के काश्तकार में मात्र 100 बुरा ही कोयला लाया गया ऐसा नहीं है कि यह पहली बार हो रहा हो इसके पहले भी कई बार छापे मार कार्यवाही की जाती है किंतु जितने कोयले पकड़ में आते हैं उससे आधे ही कोयले को जब्त किया जाता है बाकी कुछ अधिकारियों की सेटिंग से कोल माफियाओं को वापस दे दिया जाता है। बीते दिनों ग्राम मुरमा, अंगा व पुटा के सरपंचों के द्वारा अवैध कोयला खदान बंद करने हेतु एकत्रित हुए थे किंतु कोल माफिया इन पर हावी हुए और अंंगा व पुटा से पुनः अवैध कोयला खनन का कार्य प्रारंभ कर दिया गया। इस अवैध कोयला खनन में गुरुवार को राजस्व विभाग वन विभाग खनिज विभाग व पुलिस विभाग की संयुक्त टीम के द्वारा ग्राम बूटा के जंगल में पहुंचकर बोरियों में भरे अवैध कोयले लगभग 277 नग जप्त किया गया लेकिन बड़े स्तर पर चल रहे कोयला चोरी के कार्य मे लिप्त किसी भी कोयला चोर को पकड़ने में टीम को सफलता नहीं मिली । मिली जानकारी के अनुसार कलेक्टर सत्यनारायण राठौर के आदेश अनुसार अनुविभागीय अधिकारी सुरेंद्र दुबे, तहसीलदार बैकुंठपुर मनमोहन सिंह, वन विभाग की उप वन मंडल अधिकारी, जिला खनिज अधिकारी व पटना पुलिस स्टाफ के द्वारा कार्यवाही की गई।

Naresh Kumar Yadav
Naresh Kumar Yadav

Bureau Chief Koriya Chhattisgarh