Current Date:04 Mar 2021

Big Breaking : नर्सिंग छात्रों से भरी बस नहर जा गिरी...अब तक 38 शव निकाले गए बाहर...NDRF-SDRF की टीमें सर्च ऑपरेशन में जुटी

MP के सीधी में मंगलवार सुबह नर्सिंग छात्रों से भरी बस नहर में जा गिरी. बस का कंट्रोल खोने के कारण ये हादसा हुआ. नहर में से लगातार शवों को निकालने का काम हो रहा है, अभी तक 38 शवों को निकाला जा चुका है. NDRF-SDRF की टीमों द्वारा लगातार सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है.

Big Breaking : नर्सिंग छात्रों से भरी बस नहर जा गिरी...अब तक 38 शव निकाले गए बाहर...NDRF-SDRF की टीमें सर्च ऑपरेशन में जुटी
मध्य प्रदेश के सीधी में मंगलवार को भयंकर सड़क हादसा हुआ है. यहां नर्सिंग छात्र-छात्राओं से भरी हुई एक बस नहर में जा गिरी, बस में करीब 50 लोग सवार थे. इस हादसे में अबतक नहर से 38 शवों को निकाला जा चुका है. NDRF-SDRF, स्थानीय प्रशासन द्वारा अभी भी नहर में से लोगों को निकाला जा रहा है. छात्रों से भरी हुई बस सीधी से सतना की ओर जा रही थी.हादसे में छात्र-छात्राओं की मौत स्थानीय प्रशासन के मुताबिक, करीब 50 यात्रियों से भरी हुई बस सीधी से सतना जा रही थी, जिस दौरान ये भयावह हादसा हुआ. रास्ते पर जब सामने से बोलेरो गाड़ी आ रही थी तब ड्राइवर उसे साइड देने लगा और उसी दौरान बस का बैलेंस बिगड़ गया और ये भयावह हादसा हुआ.  नर्सिंग का एग्जाम देने बस में सवार होकर स्टूडेंट सीधी से सतना जा रहे थे जिस वक्त ये हादसा हुआ है. हादसे में मरने वाले भी अधिकतर नर्सिंग के छात्र-छात्राएं ही हैं. आपको बता दें कि ये घटना मंगलवार सुबह करीब 7.30 बजे की है, जब बेकाबू बस नहर में गिर पड़ी. हादसे के तुरंत बाद 7 लोग तो तैरकर बाहर आ गए, लेकिन बाकी फंसे रह गए. हादसे के बाद ही बाणसागर डैम से निकलने वाली पानी को बंद कराया गया, नहर में पानी का लेवल कम कर दिया गया ताकि लोगों को खोजने में आसानी हो.  
पीएम मोदी ने हादसे पर जताया दुख, मुआवजे का ऐलान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भी इस हादसे पर दुख जताया गया है. प्रधानमंत्री नेशनल रिलीफ फंड की तरफ से मृतकों के परिजनों को 2 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा, साथ ही घायलों को 50 हजार रुपये की सहायता दी जाएगी.
इस मामले में राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मृतकों के परिजनों के लिए पांच लाख रुपये की सहायता राशि देने की बात कही है. साथ ही दो मंत्रियों को घटना स्थल पर भेजा गया है, ताकि जल्द से जल्द बचाव कार्य किया जा सके.
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी इस मामले में शिवराज सिंह चौहान से बात की है और जल्द से जल्द बचाव कार्य कराने को लेकर चर्चा की है. अमित शाह ने कहा कि स्थानीय प्रशासन राहत व बचाव के लिए हर संभव मदद पहुंचा रहा है. मैं मृतकों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं व घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं.