Current Date:04 Mar 2021

रेप का प्रयास करने वाले सरकारी डॉक्टर पर नाबालिग लड़की ने की चप्पलों की बारिश

बिहार के दरभंगा में सरकारी अस्पताल में आंख विभाग में सहायक के रूप में काम कर रहे डॉक्टर राजन पर नाबालिग लड़की के साथ छेड़छाड़ और ठगी का आरोप लगा है.

रेप का प्रयास करने वाले सरकारी डॉक्टर पर नाबालिग लड़की ने की चप्पलों की बारिश
बिहार के दरभंगा में सरकारी अस्पताल में आंख विभाग में सहायक के रूप में काम कर रहे डॉक्टर राजन पर नाबालिग लड़की के साथ छेड़छाड़ और ठगी का आरोप लगा है. घटना केवटी थाना क्षेत्र के हवाईअड्डे की है. रविवार को पीड़ित लड़की ने महीनों से उसे परेशान करने वाले आरोपी डॉक्टर राजन की जमकर चप्पलों से पिटाई की. इस हाई वोल्टेज ड्रामे के चलते कुछ देर के लिए क्लीनिक रणक्षेत्र में बदल गया. घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस आरोपी डॉक्टर और पीड़िता को केवटी थाना ले आयी. यहां एसडीपीओ अनोज कुमार ने मामले के संबंध में दोनों पक्षों से पूछताछ की. बताया जा रहा है कि वीणा नेत्रालय नाम से क्लीनिक चलाने वाले डॉक्टर राजन पर आरोप है कि उन्होंने 15 वर्षीय नाबालिग लड़की को केवटी सरकारी अस्पताल में नौकरी दिलवाने के नाम पर उससे 60 हजार रुपये मांगे. सरकारी नौकरी मिलने के एवज में पीड़िता के परिवार ने 60 हजार रूपये डॉक्टर को दे दिये. लेकिन कई महीने बीत जाने के बाद भी जब उसे नौकरी नहीं मिली तो पीड़िता ने डॉक्टर पर दबाब बनाया. तब डॉक्टर ने लड़की को अपने निजी क्लनिक पर ही काम पर रख लिया. लेकिन पीड़िता की मानें तो रविवार को क्लीनिक में उसे अकेले पाकर डॉक्टर ने अपने कमरे में बुलाकर पर्दा लगा कर रेप करने का प्रयास किया. उसने इसका विरोध करते हुए हंगामा किया जिसके वहां स्थानीय लोग जमा हो गए और मामला समझते ही डॉक्टर की पिटाई कर दी. इस दौरान पीड़ित लड़की ने भी अपनी भड़ास निकालते हुए चप्पलों से डॉक्टर की पिटाई कर दी.
लड़की का आरोप है कि डॉक्टर राजन ने उसे नौकरी दिलवाने के नाम पर 60 हजार रुपये मांगे थे. जिसे आरोपी ने कैमरे पर 30 हजार रुपया लेने की बात स्वीकार कर करते हुए कान पकड़ कर माफी मांगी थी. यह पूरी घटना कैमरे में कैद हो गया था.
सदर एसडीपीओ अनोज कुमार ने मामले के संबंध में बताया कि आरोपी डॉक्टर अंधापन नियंत्रण कार्यक्रम के तहत केवटी प्रखंड में प्रतिनियुक्ति पर है और अपने निजी क्लीनिक पर नाबालिग लड़की को तरह तरह के प्रलोभन देकर उसके साथ छेड़खानी करता था. पीड़िता आरोपी की हरकत का विरोध करती थी.