Current Date:11 Apr 2021

माओवादियों को मुंहतोड़ जवाब देने का प्लान बना रही CRPF...केंद्रीय गृह मंत्री के आदेश पर बीजापुर पहुंचे CRPF के डीजी...पढ़िए पूरी खबर

सीआरपीएफ ने नक्सलियों के मांद में घुसकर करेगी सफाया... केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के आदेश पर बीजापुर पहुचे सीआरपीएफ के डीजी कुलदीप सिंह

माओवादियों को मुंहतोड़ जवाब देने का प्लान बना रही CRPF...केंद्रीय गृह मंत्री के आदेश पर बीजापुर पहुंचे CRPF के डीजी...पढ़िए पूरी खबर
बीजापुर. सुकमा और बीजापुर की सीमा पर स्थित जंगलों में नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में 22 जवान शहीद हो गए. घटना के 24 घंटे बाद मुठभेड़ में शहीद हुए जवानों के शव बरामद किए जा सके हैं. नक्सलियों के मंसूबे किस कदर खतरनाक थे, यह मुठभेड़ के बाद बरामद जवानों के शव देखकर सामने आया. यही वजह है कि अब सीआरपीएफ ने माओवादियों की मांद में घुसकर उन्हें मुंहतोड़ जवाब देने की रणनीति बनाई है. बीजापुर मुठभेड़ को लेकर मीडिया के साथ बातचीत के दौरान केंद्रीय रिजर्व पुलिसबल के डीजी ने यह संकेत दिया. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के आदेश पर बीजापुर पहुंचे सीआरपीएफ के डीजी कुलदीप सिंह ने कहा कि माओवादियों को लेकर बड़ी रणनीति बनाने पर विचार किया जा रहा है.

सीआरपीएफ के डीजी कुलदीप सिंह ने कहा कि बीजापुर मुठभेड़ के बाद सुरक्षाबलों की ओर से माओवादियों को करारा जवाब दिया जाएगा. माओवादियों पर नकेल कसने के लिए पुलिस उनकी मांद में घुसेगी और बड़ी कार्रवाई करेगी. सीआरपीएफ के डीजी ने कहा कि जमीन से लेकर आसमान तक की कार्रवाई कर माओवादियों को नेस्तनाबूत करने तक यह ऑपरेशन चलेगा. उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ के अलावा पुलिस, डीआरजी, एसटीएफ समेत अन्य सभी बलों के साथ तालमेल बिठाकर यह कार्रवाई की जाएगी.

इधर, सीआरपीएफ के डीजी ऑपरेशन अशोक जुनेजा ने एक चैनल से  बातचीत में कहा कि माओवादियों को मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा. सुरक्षाबल के जवान अपने साथियों की शहादत का बदला लेंगे. इसके लिए छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाकों में बड़ा ऑपरेशन चलाए जाने का उन्होंने भी संकते दिया. आपको बता दें कि शनिवार को तरेम थानाक्षेत्र इलाके में नक्सली और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ के दौरान जहां कई नक्सली मारे गए, वहीं 22 जवान शहीद हो गए. जवानों की शहादत पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत देशभर के नेताओं ने शोक व्यक्त किया है. इस मुठभेड़ में कुल 31 जवानों को गोली लगी, वहीं एक जवान अभी लापता है.