Current Date:05 Dec 2021






चीन में फिर बढ़ा कोरोना का खतरा, लगाए गए सख्त प्रतिबंध

रूस और इंग्लैंड के बाद अब चीन में भी दोबारा कोरोना संक्रमण के फैलने की आशंका जताई जा रही है। इसके मद्देनजर यहां के स्कूलों और हवाई यातायात को बंद कर दिया गया है। घरेलू स्‍तर पर अब तक महामारी को नियंत्रित करके रखा गया, लेकिन लगातार पांचवें दिन आए नए मामले चिंता बढ़ाने के लिए पर्याप्त हैं।

चीन में फिर बढ़ा कोरोना का खतरा, लगाए गए सख्त प्रतिबंध


बीजिंग :  रूस और इंग्लैंड के बाद अब चीन में भी दोबारा कोरोना संक्रमण के फैलने की आशंका जताई जा रही है। इसके मद्देनजर यहां के स्कूलों और हवाई यातायात को बंद कर दिया गया है। घरेलू स्‍तर पर अब तक महामारी को नियंत्रित करके रखा गया, लेकिन लगातार पांचवें दिन आए नए मामले चिंता बढ़ाने के लिए पर्याप्त हैं। इस बार देश में कोरोना संक्रमण के आ रहे नए मामलों के लिए चीन प्राधिकरण पर्यटकों के एक समूह को जिम्‍मेदार ठहराया है। उल्लेखनीय है कि इनमें से अधिकतर मामले उत्‍तरी और उत्‍तरी पश्चिमी प्रांत में सामने आए हैं।

रूस में कोविड-19 के डेल्टा वैरिएंट के सब-वैरिएंट से जुड़े कई मामले सामने आए हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि यह वेरिएंट पहले की तुलना में अधिक संक्रामक और घातक साबित हो सकता है। AY.4.2 सब-वेरिएंट के मामले इंग्लैंड में भी बढ़ रहे हैं।

बुधवार को चीन के ग्‍लोबल टाइम्‍स की तरफ से चेतावनी जारी की गई। जिसमें मंगोलिया में नए संक्रमितों के मिलने की वजह से कोयले का आयात प्रभावित होगा और सप्‍लाई चेन खासी प्रभावित हो सकती है। बता दें कि गुरुवार तक चीन में 13 नए मामले सामने आ चुके हैं।

नए मामलों को देख सचेत और सतर्क चीन ने देश में एक बार फिर प्रतिबंधों को बढ़ा दिया है। नए मामलों के लिए पर्यटकों के ग्रुप में शामिल एक बुजुर्ग दंपती को जिम्‍मेदार बताया गया है। शंघाई से यह दंपती गांसू प्रांत के सियान और मंगोलिया गए। जो भी मामले सामने आ रहे हैं वे सभी इन्हीं दंपती के संपर्क में किसी न किसी तरह आए थे। स्‍थानीय स्‍तर पर सरकारों ने बड़े पैमाने पर टेस्टिंग शुरू कर दी है साथ ही यहां के पर्यटन स्‍थलों को बंद कर दिया है। इसके अलावा प्रभावित क्षेत्रों में स्थित स्‍कूलों और सभी मनोरंजन स्‍थलों को बंद कर दिया गया और तो और हाउंसिंग कंपाउंड्स पर भी रोक लगा दी गई।

बता दें कि 2019 के अंत में चीन के वुहान में ही कोरोना वायरस संक्रमण का पहला मामला सामने आया था जो 2020 के मार्च तक महामारी का रूप धारण कर चुका था। 11 मार्च 2020 को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस घातक संक्रमण की चपेट में दुनिया को देख इसे महामारी करार दे दिया। 















Anjali Chandel
Anjali Chandel

www.hindustanpath.com