Current Date:08 Aug 2022





इस जिले में करोड़ों रुपए के धान चढ़ गए बारिश की भेंट, परिवहन के अभाव में खराब हुआ अनाज

गूँजेरा एवम रनबोड में 15 हजार क्विंटल से भी अधिक का धान उठाव होना शेष है। बारिश हो जाने से समितियों से धान का उठाव करना मुश्किल हो गया है।

इस जिले में करोड़ों रुपए के धान चढ़ गए बारिश की भेंट, परिवहन के अभाव में खराब हुआ अनाज


योगेश सिंह राजपूत@बेमेतरा। राज्य गठन के बाद से जब से धान खरीदी प्रारंभ हुई है, तब से अब तक दो दशक के इतिहास में सेवा सहकारी समितियों को कभी घाटा नहीं हुआ,लेकिन इस वर्ष होना तय माना जा रहा है।

Also Read : लाखों रुपए के ब्राउन शुगर के साथ महिला गिरफ्तार, पहली भी खा चुकी है जेल की हवा

पूर्व कैबिनेट मंत्री दयाल दास बघेल के गृह ग्राम कुंरा सहित गूँजेरा एवम रनबोड में 15 हजार क्विंटल से भी अधिक का धान उठाव होना शेष है। बारिश हो जाने से समितियों से धान का उठाव करना मुश्किल हो गया है। चबूतरे और अस्थायी चबूतरे के पास जलभराव होने से भारी वाहन समितियों में जा नही सकते। ग्राम कुंरा में लगभग सवा चार करोड़ के धान भीग गए हैं और हालत यह है कि धान से रोपाई भी कर सकते हैं इतने बड़े हो गए हैं पौधे। वही गूँजेरा में समिति में भी लगभग  दो करोड़ का धान बारिश की भेंट चढ़ गया है।















Nishu Sharma
Nishu Sharma

News Editor