Current Date:05 Dec 2021






9वीं मंजिल से गिरकर महिला डॉक्टर की संदिग्ध मौत...पति पर दहेज प्रताड़ना का आरोप

उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक महिला डॉक्टर की 9वीं मंजिल से गिरकर मौत हो गई. संदिग्ध हालात में हुई इस मौत के लिए डॉक्टर पति पर ही आरोप लग रहा है.

9वीं मंजिल से गिरकर महिला डॉक्टर की संदिग्ध मौत...पति पर दहेज प्रताड़ना का आरोप


उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक महिला डॉक्टर की 9वीं मंजिल से गिरकर मौत हो गई. संदिग्ध हालात में हुई इस मौत के लिए डॉक्टर पति पर ही आरोप लग रहा है. महिला के पिता का आरोप है कि डॉक्टर पति ने अपनी पत्नी के नाम पर 40 लाख का लोन लिया था और उसके जरिए उन पर लोन चुकाने का दबाव डाल रहा था. लेकिन जब पिता ने पैसे देने से इनकार कर दिया तो पति ने अपने भाई के साथ मिलकर उनकी बेटी की हत्या कर दी. इस मामले में डॉक्टर पति और उसके भाई के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई है.
दरअसल, डेढ़ साल पहले ही सुशील वर्मा और मंजू की शादी हुई थी. दोनों ही डॉक्टर थे और कानपुर के बिठूर इलाके में एक रुद्रा ग्रीन अपार्टमेंट में रहते थे. मृत महिला के माता-पिता ने इसे हत्या बताते हुए पति और उसके भाई पर दहेज के लिए प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. वहीं, पति का कहना है कि वो चक्कर खाकर रेलिंग से गिर गई थी.
मंजू के पिता अर्जुन प्रसाद पति पर हत्या का आरोप लगाते हुए कहते हैं, "हमको धमकी दिए थे कि पैसा दो. जब हम पैसा नहीं दे पाए तो उसने बेटी के नाम चालीस लाख का लोन ले लिया और हमसे कहा लोन लिया है इसको तुम्हें ही चुकाना है. जब हमने नहीं दिया तो लोन न देना पड़े इसलिए उसकी ह्त्या कर डाली." मंजू की मां बताती हैं, "हमको उसके भाई ने फोन करके बताया कि भाभी छत पर थी. चक्कर खाकर नीचे गिरकर मर गई. हमको पहले धमकी दिए थे कि इसको और बच्चे को ले जाओ नहीं तो दोनों को मार डालेंगे.
डॉ. सुशील उरई मेडिकल कालेज में प्रोफेसर हैं जबकि उनके भाई सुनील कानपुर देहात के बेसिक शिक्षा अधिकारी हैं. डॉ. मंजू भी एमबीबीएस करने के बाद एमएस की तैयारी कर रही थीं. उनके पिता अर्जुन प्रसाद प्रयागराज में सरकारी बाबू हैं. सुशील और मंजू की 2019 में ही शादी हुई थी. उनका एक मासूम बच्चा भी है. डॉ. मंजू के शरीर में कई जगह चोट के निशान पाए गए हैं. मंजू के पिता अर्जुन प्रसाद ने पति सुशील और जेठ सुनील के खिलाफ दहेज हत्या की एफआईआर दर्ज कराई है. 
कानपुर वेस्ट के डीसीपी संजीव त्यागी का कहना है कि बॉडी का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है. पिता की शिकायत पर पति से पूछताछ की जा रही है. 
मौत पर सवाल खड़े होने के दो कारण पहला तो ये कि सुशील और मंजू की शादी को डेढ़ साल ही हुए थे. मंजू के माता-पिता ने दहेज के लिए प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. ये भी आरोप है कि डॉक्टर पति जान से मारने की धमकी भी देता था. दूसरा सवाल ये भी खड़ा हो रहा है कि मंजू जब खुद एक डॉक्टर थी तो उसे ये कैसे अहसास नहीं हुआ कि उसे चक्कर आ रहा है.