Current Date:05 Dec 2021






राजधानी में सजे करवाचौथ के बाज़ार, 5 साल बाद शुभ संयोग

कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को रखा जाने वाला व्रत इस साल 24 अक्टूबर रविवार को पड़ रहा है। पांच साल बाद करवा चौथ पर शुभ योग बन रहा है।

राजधानी में सजे करवाचौथ के बाज़ार, 5 साल बाद शुभ संयोग


रायपुर : करवा चौथ का पर्व इस साल 24 अक्टूबर को मनाया जाएगा। राजधानी करवा चौथ का बाजार सज चुका है। इस बार करवा चौथ का व्रत खास होगा। कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को रखा जाने वाला व्रत इस साल 24 अक्टूबर रविवार को पड़ रहा है। पांच साल बाद करवा चौथ पर शुभ योग बन रहा है। रोहिणी नक्षत्र और रविवार का दिन होने की वजह से सूर्य देव का विशेष आशीर्वाद मिलेगा।

इससे पहले आठ अक्टूबर 2017 को रविवार के दिन ये व्रत रखा गया था। रविवार का दिन सूर्य देव को समर्पित है। सूर्य देव के आरोग्य और दीर्घायु का आशीर्वाद प्रदान करते हैं। इस दिन महिलाएं सूर्य देव का पूजन कर पति की दीर्घायु की कामना कर शुभ मुहूर्त में पूजन करने से व्रती महिलाओं की इच्छा भी पूरी होती है।

पति-पत्नी के बीच अगाध प्रेम बना रहे इसलिए यह व्रत

भारतीय संस्कृति में विवाहित महिलाओं के लिए करवा चौथ एक प्रमुख पर्व माना जाता है। पौराणिक काल से ही अपने पति के दीर्घायु और सौभाग्य की कामना के लिए, दांपत्य जीवन की बगिया हमेशा महकती रहे और जीवन पर्यन्त पति-पत्नी के बीच अगाध प्रेम बना रहे इसलिए यह व्रत किया जाता है। करवा चौथ, महज एक व्रत नहीं है बल्कि एक सूत्र है साथ रहने के विश्वास का, एक साथ जीने का।

बाजार भी सजा

करवा चौथ में खरीदारी से लेकर मुख्य बाजारों तक होड़ मची हुई। शहर के मालवीय रोड, गोल बाजार, शास्त्री बाजार समेत माल में भीड़ नजर आए। दूसरी ब्यूटी पार्लर की दुकानें भी बुक होना शुरू हो गई हैं। साथ ही साड़ियां के दुकानें में भीड़ नजर आ रही है।















Anjali Chandel
Anjali Chandel

www.hindustanpath.com