Current Date:24 Oct 2021





अगस्त की अपेक्षा सितम्बर महिने में बढ़ी टीका लगवाने वाले ग्रामिणों की संख्या

आरएचओ श्रेयांश जायसवाल ने बताया कि पटना सेक्टर के अंतर्गत आने वाले विभिन्न ग्रामिण अंचलों में जहां जहां कोविड-19 वैक्सीन लगाने की व्यवस्था की गई है वहां इन दिनों हर रोज 100 से अधिक ग्रामिण टीका लगवाने पहुंच रहे हैं

अगस्त की अपेक्षा सितम्बर महिने में बढ़ी टीका लगवाने वाले ग्रामिणों की संख्या


पटना/कोरिया- सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के साथ साथ गांव गांव में पहुंचकर स्वास्थ्य कर्मी लगा रहे कोविड-19 का टीका। पटना सेक्टर के अंतर्गत आने वाले विभिन्न गांवों के ग्रामिणों को कोविड़-19 का टीका लगवाने में किसी प्रकार की असुविधा न हो इसके लिए सीएमएचओ डां. रामेश्वर शर्मा के निर्देशन व खण्ड़ चिकित्सा अधिकारी के मार्गदर्शन में आरएचओ श्रेयांश जायसवाल के द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पटना में अच्छी व्यवस्था की गई है साथ ही ग्रामिण क्षेत्रों में स्वास्थ्य कर्मीयों की अलग अलग टीम बनाकर कोविड़ वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है जानकारी देते हुए आरएचओ श्रेयांश जायसवाल ने बताया कि पटना सेक्टर में शत् प्रतिशत कोविड वैक्सीनेशन का कार्य पूरा हो सके इस उद्देश्य से इन दिनों वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के निर्देशन पटना सहित नजदीकी व दूरस्थ ग्रामिण अंचलों में स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, उप स्वास्थ्य केन्द्रों में भी कोविड़ 19 टीकाकरण की व्यवस्था की गई है साथ ही गांवों में जाकर ग्रामिणों को जागरूक कर आवश्यक रूप से कोविड़ 19 का टीका लगवाने के लिए समझाईश दी जा रही है व प्रेरित किया जा रहा है ताकि कोई भी व्यक्ति टीकाकरण से वंचित न रह जाये।  

पहले की अपेक्षा बढ़ गई है वैक्सीन लगवाने वालों की संख्या - आरएचओ श्रेयांश जायसवाल ने यह भी बताया कि पिछले महिने की अपेक्षा सितम्बर महिने में वैक्सीन लगवाने वालों की संख्या बढ़ गई, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पटना के अलावा पटना सेक्टर के अंतर्गत जहां जहां वैक्सीनेशन की सुविधा प्रारंभ की गई है सभी जगह हर रोज 100 से भी अधिक ग्रामिणों को कोविड़ 19 का टीका लगाया जा रहा है जबकी अगस्त महिने तक वैक्सीन लगवाने वालों की संख्या काफी कम थी जिसे देखते हुए अब लगने लगा है कि लोगों में अब जागरूकता आई है जिससे लोग कोविड़ 19 का टीका लगवाने के लिए स्वयं आगे आने लगे हैं, ग्रामिण क्षेत्रों में कुछ  लोग ही है जिन्हें टीका लगवाने के लिए प्रेरित करना पड़ रहा है लेकिन अधिकांश लोगों को टीका लगवाने के लिए अधिक समझाने या प्रेरित करने की आवश्यकता नहीं पड़ रही है यह हमारे लिए और क्षेत्र के लोगों के लिए अच्छी बात है।


















Naresh Kumar Yadav
Naresh Kumar Yadav

Hindustan path Media