Current Date:14 Jun 2021


पंच, सरपंच, मंत्री, विधायक नहीं सुन रहे फरियाद मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं कोरिया जिले के गुरचरवा गांव के ग्रामिण

मनेन्द्रगढ़ विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत बंजी के गुरचरवा गांव के ग्रामीणों को आजादी के 74 साल बाद भी मुलभूत सुविधाओं के लिए तरसना पड़ रहा है।

पंच, सरपंच, मंत्री, विधायक नहीं सुन रहे फरियाद मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं कोरिया जिले के गुरचरवा गांव के ग्रामिण

बैकुन्ठपुर (कोरिया) मनेन्द्रगढ़ विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत बंजी के गुरचरवा गांव के ग्रामीणों को आजादी के 74 साल बाद भी मुलभूत सुविधाओं के लिए तरसना पड़ रहा है। 300 से भी अधिक जनसंख्या वाले इस गांव में पहुंचने के लिए आज तक सड़क नहीं बनी है, यहां पानी के लिए सिर्फ एक हैंडपंप लगा है वो भी गर्मी आने के साथ ही जवाब देने लगाता है, साफ पानी नहीं होने के कारण निस्तार के लिए महिलाएं और बच्चे तपती गर्मी में दूर दराज की नदी से पीने लेकर आते हैं, मानकुंवर, सुनीता, रामचरण, रुपसाय समेत अनेक लोगों ने बताया कि पानी के लिए वह नदी जाते हैं, पानी की समस्या सबसे ज्यादा है, कई बार सरपंच से शिकायत भी किये मगर कोई नहीं सुनता है, हमारे गांव में पानी, सड़क की समस्या है, बिजली का तो कोई ठिकाना नहीं रहता, हम लोग कई बार शिकायत किए, मगर सुनने वाला कोई नहीं है, पहले विधायक थे वो आते थे, मगर अभी जो विधायक हैं वो जीतने के बाद अभी तक गांव में आए भी नहीं, गांव में किसी तबीयत खराब हो जाए तो फिर तो भगवान ही मालिक है, बिमार ग्रामिण को एक किलोमीटर खाट या अन्य साधान से मुख्य सड़क तक लेकर जाना पड़ता है इसके बाद वाहन से मरीज को लेकर अस्पताल पहुंच पाते हैं। बरसात के दिनों में तो ग्रामिणों की समस्या और अधिक बढ़ जाती है आम दिनों में ग्रामिण किसी तरह से ग्रामीण उबड़-खाबड़, पथरीले मार्ग से आना जाना कर लेते हैं, गांव तक अगर पहुंचना हो तो पगडंडी ही सहारा होता है, बारिश के दिनों में गांव के चारों तरफ पानी भर जाता है, इसके कारण गांव के लोग गांव में ही कैद होकर रह जाते हैं दूसरे गांव व ब्लॉक मुख्यालय से संपर्क टूट जाता है। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि कई बार मूलभूत सुविधाओं की मांग को लेकर विधायक-मंत्री से लेकर अधिकारियों तक फरियाद कर चुके है, इसके बावजूद हमारी मांग नहीं सुनी जा रही है, गांव कि समस्याओं को लेकर विधायक विनय जायसवाल को भी कई बार अवगत कराया गया, लेकिन हमें सिर्फ आश्वासन मिला है।



 

Naresh Kumar Yadav
Naresh Kumar Yadav

Bureau Chief Koriya Chhattisgarh