Current Date:04 Mar 2021

नाबालिग मंदबुद्धि बच्ची से रेप...आरोपी थाने का पूर्व ड्राइवर...तलाश में जुटी पुलिस

बिहार की राजधानी पटना में मानसिक रूप से कमजोर नाबालिग बच्ची से दुष्कर्म किया गया है. मामला जक्कनपुर थाना क्षेत्र के करबिगहिया इलाके का है.

नाबालिग मंदबुद्धि बच्ची से रेप...आरोपी थाने का पूर्व ड्राइवर...तलाश में जुटी पुलिस
 बिहार की राजधानी पटना में मानसिक रूप से कमजोर नाबालिग बच्ची से दुष्कर्म किया गया है. मामला जक्कनपुर थाना क्षेत्र के करबिगहिया इलाके का है. यहां एक मंदबुद्धि नाबालिग लड़की के साथ रेप की सनसनीखेज घटना सामने आई है. घटना को अंजाम देने वाला और कोई नहीं जक्कनपुर थाने का पूर्व का ड्राइवर है. फिलहाल पुलिस ने इस रेप की घटना को लेकर केस दर्ज कर लिया है और आरोपी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है. पुलिस ने आनन-फानन में  पीड़िता का मेडिकल भी करा लिया है. पीड़िता की मां का कहना है कि वह सड़क किनारे फेरी लगाती है. वह अपने काम से घर घर लौटी तब पड़ोसियों ने उसे इस घटना की जानकारी दी. फिर मां बच्ची को लेकर थाने पहुंची.
पुलिस कर रही आरोपी की तलाश
पीड़िता की मां ने मीडिया को बताया कि आरोपी सूरज फिलहाल ऑटो चलाता है. स्थानीय लोगों ने बताया कि जब आरोपी ने मंदबुद्धि नाबालिग को कमरे में बंद किया तब वह काफी चिल्ला रही थी, जब लोगों ने इसका विरोध किया तब वह मौके से फरार हो गया. फिलहाल सिटी एसपी ने जक्कनपुर थानाध्यक्ष के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन कर दिया है और आरोपी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है.  फिलहाल थाने के एक पूर्व स्टाफ द्वारा किए गए इस कुकृत्य को लेकर इलाके के लोगों में रोष है.
बिहार  के सहरसा में शादी  के दिन दो अलग अलग घटनाओं ने सबको चौंका दिया है. यहां शादी के दिन एक युवक दूल्हे के सामने ही उसकी दुल्हन  को बाइक पर बैठाकर भाग निकला. दूल्हा अपनी नई दुल्हन की विदा कराकर अपने घर ले जा रहा था. इस घटना के बाद हडकंप मच गया. वहीं दूसरी तरफ एक दुल्हन भी अपने दूल्हे के बारात लेकर आने का इंतजार करती रह गई. यह वही दूल्हा था जिसकी शादी दूसरी लड़की के साथ होनी थी, लेकिन वह बारात ले जाने के पहले ही दूसरे की दुल्हन को उड़ा ले गया. उसकी दुल्हन भी इंतजार करती रह गई. इस मामले की क्षेत्र में खूब चर्चा हो रही है. इस मामले पर पंचायत भी बुलाई गई.
बताया गया है कि सहरसा शहर से सटे एक गांव के लडके की शादी तटबंध पार एक गांव में तय हुई थी. लड़के और बाराती गाड़ी को तटबंध पर छोड़ बाइक और पैदल चचरी पुल पार कर दुल्हन के घर पहुंचे. बारातियों के पहुंचने पर वहां वधु पक्ष के लोगों ने बारातियों का खूब स्वागत सत्कार किया. विधि विधान से लड़के और लड़की की शादी की रस्म निभाई गई. रातभर शादी की रस्मों के साथ शादी सम्पन्न होने के बाद सुबह दुल्हन की विदाई की तैयारी शुरू हुई.परिजनों ने अपनी बेटी को विदा कर दिया.