Current Date:24 Oct 2021





सूरजपुर: अकेली महिला के घर घुसे तीन तथाकथित पत्रकार... जबरन घर की ली तलाशी... एसपी से शिकायत, कार्यवाही की मांग

महिला के घर में घुसे तथाकथित पत्रकार , कार्यवाही की मांग

सूरजपुर: अकेली महिला के घर घुसे तीन तथाकथित पत्रकार... जबरन घर की ली तलाशी... एसपी से शिकायत, कार्यवाही की मांग


सूरजपुर.  बीते दो सालो मे कोरोना के साए मे लोग ज्यादातर घरो पर ही रहे,ऐसे मे कई लोग बेरोजगार हो गए लेकिन डिजीटल युग के दौर मे कुछ लोग वेब पोर्टल को अपना रोजगार बना लिया तो कुछ इसे हथियार के रुप मे आजमाने लगे ऐसा ही कुछ खेल जरही भटगाव क्षेत्र मे शुरु हुआ जहां अचानक से वेब पोर्टल के माध्यम से खुद को पत्रकार कि पदवी  देकर माईक आईडी के साथ लाकडाउन के समय मे भी गांव गांव घुमना शुरु कर दिया और सरपंच सचिवो से अवैध उगाही शुरु करके इसे अपना रोजगार बना लिया . 


सबसे खास बात यह है की युट्युब और वेब का सहारा लेकर ये लोग अधिकारीयो पर  भी अपना रसुख झाङते नजर आने लगे है . लेकिन कोरोना कि दुरी बढते ही जनजीवन सामान्य हो रहा है. ऐसे मे इन तथाकथित पत्रकारों कि स्थिति खराब हो रही है,जिससे अब ये लोग आम लोगो के घरो के अंदर घुसकर ब्लैकमेल का धंधा शुरु कर दिया है. इन्ही लोगो के द्वारा अब एक महिला को परेशान किया जा रहा है और पीङित महिला अधिकारीयो से न्याय कि गुहार लगा रही है . 
दरअसल सूरजपुर जिलें के भटगांव थाना क्षेत्र के शिवारीपारा गांव कि एक महिला ने जरही निवासी सूरज मंण्डल , बिनोद गुप्ता ,  गुरमीत सिहं की शिकायत एसपी सूरजपुर से की है . महिला ने एसपी से शिकायत करते हुए बताया कि जरही के रहने वाले तीन युवक जबरन उसके घर पहुंच कर तलाशी लेने लगे और महिला के द्वारा परिचय पुछने पर तीनो युवक खुद को पत्रकार बताकर धमकाने लगे साथ ही महिला के पति को नौकरी से निकलवाने कि धमकी दे रहे हैं . जहां बीते दो दिनो से परेशान होकर पीङित महिला ने एसपी को  शिकायत  कर कार्यवाही कि मांग की है. 
अवैध वसूली के लगते रहे हैं आरोप
दरअसल इन तीनों तथाकथित पत्रकारों पर अवैध वसूली और लूटपाट के आरोप लगते रहे हैं . जानकारी के मुताबिक मई माह में बरौधी गांव में एक गरीब परिवार के घर से शादी के दौरान तीनों तथाकथित पत्रकारों द्वारा डरा धमकाकर 25 हजार रुपये वसूल लिए .इसके कुछ दिन बाद कुंदा रेलवे गेट के पास रात्रि में पिकअप के ड्राइवर से 3 हजार रूपये की लूटने की बात सामने आई . बताया यह भी जाता है की इन तीनों के द्वारा सड़क पर चल रहे ट्रकों को रोककर पेपर चेक किया जाता है  और अपने आप को पत्रकार के साथ ही पुलिस के बड़े अधिकारियों के करीबी बताकर चालकों से अवैध उगाही करते है. जिसकी चर्चा क्षेत्र में जमकर होती रहती है . जानकारी के मुताबिक वसूली करने के साथ ही पिड़ित को डरा धमका देते हैं जिससे की पिड़ित इसकी शिकायत करने की हिम्मत नहीं जुटा पाते हैं .वहीं सूत्रों के मानें तो क्षेत्र में लगने वाले मेले और बजार से भी टैक्स के नाम से वसूली करते नजर आए हैं. 
नशीली पदार्थ बेचने का भी है आरोप
सूत्रों की माने तो इसमें एक युवक नशीली पदार्थ का बिक्री करता है . कई बार स्थनीय पुलिस पकडने की कोशिश की लेकिन शातिर दिमाग के वजह से पुलिस के गिरफ्त में कभी नहीं आया यही वजह है की वेबपोर्टल के साथ जुड़कर कर पत्रकार बन गया जिससे की पुलिस इसके तक न पहुंच सके और पत्रकारिता के आड़ में गलत काम को अंजाम बेधड़क दे सकें . 
जनप्रतिनिधियों में आक्रोश
वहीं इस पूरे घटनाक्रम से जनप्रतिनिधि भी आक्रोशित है . भटगांव शिवारी पारा के पार्षद ओमप्रकाश गुप्ता ने कहा कि ऐसे तथाकथित पत्रकारों के वजह से पत्रकारों की छवि खराब हो रही हैं . इन लोगों पर कार्यवाही होनी चाहिए . पत्रकार हमेशा समाज के पक्षधर होते हैं लेकिन वर्तमान स्थिति में तथाकथित पत्रकार इसे अपना रोजगार के जरिया बना लिए है . जिससे समाज में गलत मैसेज जा रहा है .
जांच कर कार्यवाही की जाएगी 
वहीं जिलें के एडिशनल एसपी हरिश रठौर ने बताया कि महिला के शिकयत मिली है . इसकी जांच कराकर वैधानिक कार्यवाही की जाएगी .